Chalu News

  Trending
Next
Prev

Chalu News

Har Pal Ki Khabar

ब्रेकिंग न्यूज़

नहीं सुधरने पर क्या हश्र होगा, आतंकवादियों और उनके सरपरस्तों को ये बता दिया है: PM मोदी

नहीं सुधरने पर क्या हश्र होगा, आतंकवादियों और उनके सरपरस्तों को ये बता दिया है: PM मोदी

[ad_1]


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलवामा आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के खिलाफ की गई कार्रवाई को लेकर कहा कि आतंकियों और उनके सरपरस्तों को बता दिया गया है कि अगर वे नहीं सुधरेंगे तो क्या हश्र होगा.

मध्य प्रदेश के धार में बीजेपी की ‘विजय संकल्प रैली’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘पुलवामा आतंकी हमले का जवाब भारतीय वायुसेना ने आतंकियों के घर में घुसकर दिया. आतंकियों और उनके सरपरस्तों को बता दिया गया है कि अगर वे नहीं सुधरेंगे तो क्या हश्र होगा.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘देश-दुनिया को लगता है कि हमने पुलवामा आतंकी हमले का जवाब देकर सही किया.’ मोदी ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का नाम लिए बगैर उन पर तंज कसते हुए कहा कि वह पुलवामा हमले को महज हादसा बता रहे हैं. उन्हें (दिग्विजय को) ओसामा बिन लादेन भी ‘शांति दूत’ लगता था.

मोदी ने कहा ‘एक आतंकी की मौत पर जिस पार्टी के नेताओं के आंसू नहीं थमते थे. उस कांग्रेस से आतंकवादियों के खात्मे की उम्मीद नहीं की जा सकती.’ प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार हर आतंकी हमले के बाद चुप बैठ जाती थी. भारतीय वायुसेना का एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुआ, लेकिन सदमा भारत में बैठे लोगों को लगा.

विपक्ष पर साधा निशाना

पीएम मोदी ने आरोप लगाया कि विपक्षी नेता पाकिस्तान के साथ मिलकर ‘महामिलावट’ कर रहे हैं. मोदी ने कहा, ‘महामिलावटी’ लोग पाकिस्तान के ‘पोस्टर बॉय’ बन गए हैं. वे पाकिस्तान को शांति दूत बता रहे हैं.

मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, ‘ये लोग आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई के मामले में देश की जनता को भ्रमित कर रहे हैं और पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर वायुसेना के हालिया हमले के सबूत मांगकर सेना का मनोबल तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं.

मोदी ने मध्य प्रदेश में सत्ताधारी कांग्रेस पर आरोप लगाया कि भोपाल में बैठी कांग्रेस सरकार को किसानों की चिंता नहीं है. केंद्र की योजना के लाभार्थी किसानों की सूची नहीं भेज रही कमलाथ सरकार.

उन्होंने कहा कि राहुल ने विधानसभा चुनावों से पहले कहा था कि अगर सूबे में कांग्रेस की सरकार आने पर 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ तो वह मुख्यमंत्री बदल देंगे. लेकिन किसानों का कर्जा अब तक माफ नहीं हुआ और मुख्यमंत्री (कमलनाथ) अब भी पद पर बरकरार हैं.

[ad_2]

Source link

Print Friendly, PDF & Email

शेयर करे

Related Posts